Sunday, 17 September 2017

नरेंद्र मोदी की जीवनी

श्री Narendra modi  का जीवन एक तपस्या से कम नहीं है | अपने २ साल के कार्यकाल मेंNarendra modi ने वो कर दिखया जिसे करने में लोगो को 10 साल से ज़्यदा लग जाता है | नरेंद्र  मोदी भारत के लिए  ऐसा नाम है जो भारत को बुलंदियों पर लेकर जा रहे हैं |Narendra modi का जीवन हर उम्र के लोगो के लिए एक मिसाल है |
चलिए पढ़ते है 
साल 1950 देश को आज़ाद हुए ३ ही साल हुए थे नयी भारत की नींव पढ़ रही थी इन्ही दिनों ,गाँधी नगर से 80 किलो मीटर दूर बड़नगर नाम का छोटा से कसबे  में 17 सितबर 1950 में Narendra Modi  का जन्म हुआ .नरेंद्र मोदी के पिता का नाम दामोदर दास मोदी और माँ का नाम हेरा बैन है
दामोदर दास मोदी की बड़नगर के रेलवे स्टेशन पर चाय की एक छोटी सी दुकान थी . उन दिनों 7 साल के Narendra Modi सुबह ही रेलवे स्टेशन पहुचकर अपने पिताजी का हाथ बटाते . और दोपहर में स्कूल में कोई पीरियड खली होता तो नरेंद्र दौड़ते हुए स्टेशन पहुच जाते और जैसे ही स्कूल का समय होता फिर से स्कूल पहुच जाते . बचपन के कई साल नरेंद्र के ऐसे ही बीते .  उनकी माँ घर घर जाकर बर्तन साफ़ करती .
बचपन के शंघर्षो ने नरेंद्र को और मजबूत बना दिया . १२ फ़ीट चौड़े और ४० फ़ीट लंबे एक छोटे से मकान में Narendra Modi अपने ५ भाई बहन और माँ बाप के साथ रहते .नरेंद्र बचपन से ही एक बार जो सोच लेते वह कर कर ही रहते थे .
नरेंद्र मोदी के बारे में एक कहानी सुनी जाती है की एक बार नरेंद्र ने मगरमछो से भरे तालाब में छलांग लगा दी और घड़ियाल का एक बच्चा अपने घर भी ले आये .नरेंद्र मोदी स्कूल में होने वाली हर एक्टिविटी में भाग लेते . और स्कूल के बाद ८ साल से  राष्टीय स्वयम सेवन संघ में जाते. नरेंद्र बचपन से ही बहुत धार्मिक थे .

Narendra Modi का चाय की दूकान से देश के Prime Minister बनने का सफर

१३ साल की उम्र में नरेंद्र मोदी की शादी जशोदा बैन से  करा दी गयी . शादी के ४ साल बाद नरेंद्र मोदी जब ११ क्लास में पढ़ रहे थे उन्होंने घर छोड़ने का निश्चय किया . ३ साल बाद वह फिर अपने घर लौटे . और कुछ समय बाद ही वह बड़नगर छोड़कर अहमदाबाद आ गए . वह एक कैंटीन में चाय देना शुरू कर दिया . वहां भी  नरेंद्र ने  RSS में जाना शुरू कर दिया . और वही संघ के लोगो के साथ रहने लगे . सुबह ५ बजे उठकर संघ के लोगो के लिए चाय बनाते और नाश्ता तैयार करते और कमरे में खुद ही झाड़ू लगाते .
१९७५ में देश में इमरजेंसी लगायी गयी थी उस समय नरेंद्र मोदी को संघ में काम करने का मौका मिला और उन्होंने इन दिनों बहुत कुछ सीखा . और एक साल बाद नरेंद्र को गुजरात के ६ जिलो का संघ प्रचारक बना दिया गया .१८८७ में नरेंद्र को गुजरात  बी.ज.प का सचिव बना दिया गया .२००१ में नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्य मंत्री बने और २०१४ तक गुजरात के मुख्यमंत्री रहे . और 14 may 2014 को भारत के प्रधान मंत्री पद पर नियुक्त हुए .

Narendra Modi Qualities

1.. Public Speaking Skills –

Narendra modi  की आवाज़ में ऐसी शक्ति है की वो हर किसी को अपनी बात सुनने पर विवश कर देते है | जो लोग उन्हें पसंद नहीं करते वो भी उनकी स्पीच हमेशा सुनते हैं | इसका मुख्य कारण है की वो अपनी हर एक स्पीच खुद ही लिखते हैं |

2. उत्साह Enthusiasm –

नरेंद्र मोदी का उत्साह कविले तारीफ है | ६६ वर्ष की उम्र में भी हर दिन नयी यात्रा बिना रुके बिना थके | मात्र ३-४ घंटे सोकर दिन भर काम करना उनके उत्साह का ही नतीजा है |श्री बराक ओबामा ने एक बार इंटरव्यू में बताया की नरेंद्र मोदी मात्र 3-4 घंटे ही सोते हैं | और पुरे दिन बिना रुके काम करते है |

3.. दृढ़निश्चय Determination –

नरेंद्र मोदी बचपन से ही दृढ़निश्चय  वाले थे | मात्र ८ साल की उम्र में नरेंद्र मोदी ने आरएसएस ज्वाइन की | बचपन में एक बार नरेंद्र मोदी ने नदी पर करके मंदिर जाने की सोच ली और उन्हें पता था की नदी में मगरमच्छ है फिर भी वो नदी पर करके गए | और चाय बेचने से शुरआत करने वाले श्री नरेंद्र मोदी आज भारत के प्रधान मंत्री (Prime minister) हैं ये उनके दृढ़निश्चय का ही नतीजा है |

4.धीरज युक्त  Patience

नरेंद्र मोदी जी की सबसे बढ़ी विशेषता है उनका धीरज युक्त होना |
हर किसी के जीवन में उतार चढ़ाव आते रहते हैं पर जीवन में धैर्य को बांये रखना बहुत ज़रूरी है |
5  नेतृत्व शक्ति Leadership Quality
नरेंद्र मोदी जी की नेतृत्व की शक्ति अतुलनीय है | आज भी वो बीजेपी के किसी भी

6. निडर Fearless  –

नरेंद्र मोदी स्वाभाव से ही निडर है |एक बार नरेंद्र मोदी जी ने  कन्यकुमरी से श्रीनगर तक की यात्रा निकली और श्री नगर के लाल चौक पर तिरंगा झंडा फैराया दिया |
7..Technology का सही उपयोग करने वाले  –
Narendra Modi  Technology को पसंद करते है और उसे प्रोत्साहन भी देते हैं | उस में वो Facebook  के CEO Mark Zuckerberg से भी मिले | वो हमेशा Tweet करते है और post करते है अपनी हर महत्व्पूर्ण घटना को | नरेंद्र मोदी से हम सिख सकते हैं की technology का use क्या होता है और उसका गुलाम बनना क्या होता है |
8. स्वास्थ्य प्रिय –
नरेंद्र मोदी एक दिन भी योग और प्राणायाम  नहीं छोड़ते  |Narendra Modi जी बताते है की जब कभी भी में थका हुआ महसूस करता हु तो तुरंत गहरी साँस लेने लगता हु यह मुझे एक बार फिर तारो ताज़ा कर देती है |
नरेंद्र मोदी जी के जीवन से हम भी सीखते चले और अपने जीवन को उन्नत बनाते चले |