Wednesday, 17 January 2018

अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी छात्र संघ अध्यक्ष मशकूर अहमद उस्मानी ने केंद्र सरकार के खिलाफ जहर उगलते हुए कहा

भारत में आतंक का आरोप संघ पर लगाने वाले उस्मानी अब तक नहीं बता पाए बाकी दुनिया में हो रहे ख़ून खराबे की वजह

 उस्मानी ने केन्द्र की बीजेपी सरकार पर कश्मीरी युवाओं को आतंकि बनाने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि कश्मीर के युवा केंद्र सरकार की वजह से आतंकी बन रहे है. आपको बता दें कि आजादी के बाद से कश्मीरी युवा आतंकि बन रहे है. आये दिन ये लोग सेना के जवानों पर हमला करते रहते है. और ये वही आतंकि है
जिन्होंने कश्मीरी हिन्दुओं का नरसंहार किया था. लेकिन उस्मानी को ये बात कहा याद होगी उन्हें तो सिर्फ केन्द्र की बीजेपी सरकार पर आरोप लगाना है. उस्मानी को बताना चाहिए कि अगर भाजपा की सरकार की वजह से आतंकवाद हो रहा है तो क्या इराक, सीरिया जैसे जगहों पर क्या बीजेपी की सरकार है. क्या वहां भी आतंकी बीजेपी
की सरकार की वजह से आतंकवाद हो रहा है तो क्या इराक, सीरिया जैसे जगहों पर क्या बीजेपी की सरकार है. क्या वहां भी आतंकी बीजेपी की वजह से बन रहें हैं और कत्लेआम मचा रहे हैं.
अपने पैतृक गांव बिहार के दरभंगा पहुंचे अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी छात्र संघ अध्यक्ष मशकूर अहमद उस्मानी ने केंद्र सरकार के खिलाफ जहर उगलते हुए कहा कि मन्नान वानी ने आतंक का रास्ता केन्द्र सरकार की वजह से चुना है. इसीलिए वह आतंकी संगठन हिज़बुल मुजाहिद्दीन से जुड़ा. उन्हें लगता है कि जब से बीजेपी की
सत्ता में आई है तब से कश्मीर के युवा आतंकि बन रहे है.

क्या इससे पहले कश्मीर का कोई युवा आतंकि नहीं बना? यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष का ऐसा बयान तब आया जब उन्ही के कॉलेज में पढने वाले दो कश्मीरी युवाओं का आतंकी बनने की खबरे आ रही है. अच्छा होता यदि अध्यक्ष साहब अपने कॉलेज के छात्रों को आतंकी रास्ते से दूर रहने की सलाह देते. लेकिन वो तो उल्टा उस सरकार पर आरोप

लगा रहे है जो देश से आतंकवाद को जड़ से मिटाने में लगी है. कही उस्मानी भी अब उमर खालिद, कन्ह्या या जिग्नेश की तरह कोई योजना तो नहीं बना रहे है ?