Saturday, 20 January 2018

आतंक अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. एक बार फिर भारत की धरती को लहूलुहान करने की साजिश

बौद्धों के हत्यारों को भारत में बसाने का दुष्परिणाम आये सामने... बोध गया मंदिर को दहलाने की साजिश हुई नाकाम


-आतंक अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. एक बार फिर भारत की धरती को लहूलुहान करने की साजिश करी गई पर वो नाकाम रही. आपको बता दे कि बिहार में आतंकियों कि बम विस्पोट करने कि साजिश विफल हो गई. बिहार पुलिस उस वक़्त सकते में आ गई जब बिहार के बोधगया स्थित महाबोधि मंदिर के पास विस्फोटक मिला. आपको बता दे कि रोहिंग्याओं की वजह से भारत को आतंकी हमला का खतरा पहले ही नज़र आ रहा था और अब तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा के दौरे के समय बिहार के बोधगया स्थित महाबोधि मंदिर में विस्पोटक मिलना साफ़ संदेश है की आतंकि भारत को सुकून से नहीं देखना चाहते. आपको बता दे कि तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा बोधगया में मौजूद हैं. वह दो जनवरी से महाबोधि मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना में भी हिस्सा ले रहे हैं. मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस को जांच में 2 जिंदा बम मिले.

सूचना पर पहुंची पुलिस ने मंदिर और आसपास के इलाके को फौरन अपने कब्जे में ले लिया. आनन-फानन में बम निरोधक दस्ते को भी बुला लिया गया. इसके बाद मंदिर के आसपास सघन तलाशी अभियान चलाया गया और विस्फोट को बरामद करके फल्गु नदी की ओर ले जाया गया. शुक्रवार को महाबोधि मंदिर के पास विस्फोटक मिलने की खबर आने से पहले बिहार के गवर्नर सतपाल मलिक ने भी यहां आकर पूजा-अर्चना की. सुरक्षा के लिहाज से महाबोधि मंदिर बेहद संवेदनशील है. इससे पहले साल 2013 में महाबोधि मंदिर में सीरिलय बम ब्लॉस्ट हुए थे.