Thursday, 1 February 2018

गाँधी भारत का कोई राष्ट्रपिता नहीं है, भारत तो गाँधी के जन्म से हज़ारों साल पहले से मौजूद था दूसरी चीज ये की अगर गाँधी को किसी राष्ट्र का पिता कहना है तो गाँधी को पाकिस्तान का राष्ट्रपिता कहा जा सकता है क्यूंकि गांधी ने पाकिस्तान बनवाया

कोई राष्ट्रपुत्र तो हो सकता है पर राष्ट्रपिता नहीं, गाँधी को राष्ट्रपिता कहना राष्ट्र_का_अपमान :

🚩राष्ट्र से बड़ा कोई भी नहीं होता, यहाँ तक की भगवान् श्री राम ने भी अयोध्या जी को अपनी माता कहा था, हम सब राष्ट्र में जन्म लेते है, राष्ट्र और धरती हमारी माता है, न की हम अपने राष्ट्र और इस धरती के बाप है, पर कांग्रेस ने मोहनदास गाँधी को भारत का पिता घोषित कर दिया
🚩
आपकी जानकारी के लिए बता दें की द्वारका शंकराचार्य जी ने मोहनदास गाँधी को भारत का पिता कहे जाने का विरोध किया है और उन्होंने कहा है की कोई भी शख्स राष्ट्र का पुत्र तो हो सकता है पर राष्ट्र का पिता नहीं हो सकता, और गाँधी को राष्ट्र का पिता कहना राष्ट्र का अपमान है, और हमे ये अपमान नहीं करना चाहिए
🚩
आपकी जानकारी के लिए बता दें की भारत तो 20 हज़ार साल से ज्यादा पुराना देश है, गाँधी के जन्म से पहले से भारत इस धरती पर था, भारत को गाँधी ने नहीं बनाया, दूसरी चीज ये की अगर गाँधी को किसी राष्ट्र का पिता कहना है तो गाँधी को पाकिस्तान का राष्ट्रपिता कहा जा सकता है क्यूंकि गांधी ने पाकिस्तान बनवाया
🚩
भारत तो गाँधी के जन्म से हज़ारों साल पहले से मौजूद था, गाँधी भारत का पुत्र हो सकता है, पर भारत का पिता कैसे, हम सब भी भारत में जन्मे है, हम राष्ट्र के पुत्र हो सकते है, हम भारत को अपनी माता भी कहते है, हम धरती को भी धरती माता कहके बुलाते है, पर हम खुद को धरती का बाप या भारत का बाप तो नहीं घोषित कर सकते, पर कांग्रेस ने गाँधी को भारत का पिता घोषित कर दिया

आपकी जानकारी के लिए ये भी बता दें की आधिकारिक रूप से गाँधी भारत का कोई राष्ट्रपिता नहीं है, और भारत में राष्ट्रपिता जैसा कोई पद भी नहीं है, पर देश के सेक्युलर वामपंथी गाँधी को राष्ट्रपिता राष्ट्रपिता राष्ट्रपिता बोलते रहते है, जो की राष्ट्र को गाली देने जैसा है