Monday, 12 February 2018

तो मन्दिर के विरोध में खड़ेहिन्दू को किसको उत्तर देना होगा . ?

ओवैसी बोला कि बाबरी पर झुकने वाले मुसलमान अल्लाह को देगे जवाब. मन्दिर विरोधी सेकुलर हिन्दू बताएं कि वो किसे देंगे जवाब ?

खुद को धर्मनिरपेक्ष कहने वाला ओवैसी नहीं तैयार है किसी भी प्रकार से बाबरी के नाम पर कोई भी समझौता करने के लिए लेकिन उसकी जुबान पर हर बार किसी न किसी हिन्दू संगठन का नाम साम्प्रदायिकता के रूप में आ ही जाता है . धर्मनिरपेक्षता की बात करने वाला और धर्मनिरपेक्ष देश की धर्मनिरपेक्ष संसद में धर्मनिरपेक्ष संविधान की शपथ लेने वाला ओवैसी एक बार फिर से सिर्फ और सिर्फ मुसलमान की बात कर रहा है . और ये बात नहीं सीधे सीधे मुसलमानों को साम्प्रदायिक उन्माद के लिए उत्साहित कर रहा है जिसमे सवाल है हिन्दुओं के लिए भी जो श्रीराम मन्दिर के विरोध में खड़े हैं .

ज्ञात हो कि अयोध्या में बाबरी मस्जिद के मालिकाना हक़ को लेकर समझौते की गुंजाइश से साफ़ इनकार करते हुए आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि बाबरी मस्जिद मामले में किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा. जहां तक बाबरी मस्जिद की बात है, मस्जिद मुद्दे पर करने वाले लोग अल्लाह के सामने जवाबदेह होंगे.'' इस बयान के बाद कम से कम सेकुलर और श्रीराम मन्दिर के विरोध में खड़े खुद को हिन्दू कहने वाले उन तमाम सेकुलर ब्रिगेड के सदस्यों से सवाल तो बनता ही है कि अगर मस्जिद से समझौता करने वाले मुसलमान को अल्लाह के आगे जवाब देना होगा तो मन्दिर के विरोध में खड़ेहिन्दू को किसको उत्तर देना होगा . ?