Tuesday, 27 March 2018

विधायकों का वेतन तीन गुना किया गया

कर्ज में डूबे उत्तराखंड के मंत्रियों और विधायकों की बल्ले-बल्ले, दोगुनी हुई सैलरी



उत्तराखंड विधानसभा ने विधायकों के वेतन भत्तों में बढ़ोतरी को लेकर विविध संशोधन विधेयक पास कर दिया है. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक विविध संशोधन विधेयक के पास होने से प्रदेश के विधायकों की सैलरी करीब 100 फीसदी तक बढ़ जाएगी.
देहरादून: उत्तराखंड विधानसभा ने विधायकों के वेतन भत्तों में बढ़ोतरी को लेकर विविध संशोधन विधेयक पास कर दिया है. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक विविध संशोधन विधेयक (मिसलेनियस अमेंडमेंट बिल) के पास होने के बाद प्रदेश के विधायकों की सैलरी करीब 100 फीसदी तक बढ़ जाएगी. इस विधेयक को राज्य सरकार ने शनिवार (24 मार्च) को ही सदन में पेश किया था, जिसे बजट सत्र के आखिरी दिन पास कर दिया गया. विधायक लंबे समय से वेतन भत्ता बढ़ाने की मांग कर रहे थे. विधायकों की मांग पर तदर्थ समिति (एडहॉक कमेटी) का गठन किया गया था. विधानसभा से विधेयक पारित होने के बाद अब इसे राज्यपाल की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा.
विधायकों का वेतन तीन गुना किया गया
विधायकों के वेतन 10 हजार रुपए से बढ़ाकर 30 हजार रुपए किया गया है. मंत्रियों के वेतन 45 हजार रुपए से बढ़ाकर 90 हजार रुपए किया गया है. स्पीकर का वेतन 55,000 हजार रुपए से बढ़ाकर 1.10 लाख रुपए किया गया है. डिप्टी स्पीकर की सैलरी भी दोगुनी कर दी गई है. खास बात ये ही विधायकों की सैलरी के साथ जुड़े भत्ते भी दोगुना से तीन गुणा तक बढ़ा दिए गए हैं.
उत्तराखंड के 51 विधायक करोड़पति
रिपोर्ट एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म के मुताबिक उत्तराखंड के 69 में से 51 विधायक करोड़पति हैं. 51 करोड़पतियों में 10 करोड़ से अधिक संपत्ति वाले 5, 5-10 करोड़ की संपत्ति वाले 5 और 1-5 करोड़ की संपत्ति वाले 17  विधायक हैं.


इससे पहले 2014 में विजय बहुगुणा सरकार ने विधायकों की सैलरी बढ़ाई थी
इस कमेटी ने पिछले हफ्ते अपनी रिपोर्ट सदन में रखी थी. कैबिनेट की बैठक में भी वेतन भत्ते को बढ़ाने की मंजूरी मिल गई थी. कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद राज्य सरकार ने विधानसभा में विविध संशोधन विधेयक (मिसलेनियस अमेंडमेंट बिल) पेश किया, जिसे सदन से मंजूरी मिल गई. वर्तमान में उत्तराखंड में विधायकों की सैलरी करीब 1.6 लाख रुपए हर महीने है. स्पीकर और मंत्रियों की सैलरी तो इससे कही ज्यादा है. जनवरी 2014 में विजय बहुगुणा सरकार ने विधायकों के वेतन भत्तों में जबरदस्त बढ़ोतरी की थी. एकबार फिर त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार विधायकों और मंत्रियों की सैलरी बढ़ाने जा रही है.
सैलरी के अलावा ये सुविधाएं भी
विधायकों को सैलरी के अलावा कई तरह की सुविधाएं भी मिलती हैं. जानकारी के मुताबिक एक विधायक को एक साल में तीन लाख कूपन (रेल और हवाई) की मिलती है. विधायकों और उनके परिवारों को क्लास वन ऑफिसर की तरह चिकित्सा सुविधा. इसके अलावा दो मोबाइल फोन, एक टेलीफोन और मकान निर्माण और वाहन क्रय के लिए 8-8 लाख लोन की भी सुविधा है.