Tuesday, 31 May 2016

SHAME: थाने में साफ कराए जूते, बुजुर्ग महिला से कहा- कर लो दूसरी शादी


SHAME: थाने में साफ कराए जूते, बुजुर्ग महिला से कहा- कर लो दूसरी शादीथाने में बैठा आरोपी मुंसी और जूता साफ करता विक्टिम

मेरठ/मुजफ्फरनगर: यूपी पुलिस के कारनामों से तो हर कोई वाकिफ है। कभी फरियाद लेकर पहुंचे विक्टिम को टरकाना, तो कभी जेब गर्म कर सच्ची घटना को छिपा जाना। लेकिन मुजफ्फरनगर पुलिस ने इस बार बेशर्मी की सारी हदें पार कर दी हैं।


https://www.youtube.com/watch?v=dZx_GVNBSNQ
मुजफ्फरनगर के चरथावल थाने में जब एक फरियादी मोबाइल गुम होने की शिकायत लेकर पहुंचा तो वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने विक्टिम को ही मोबाइल खो देने की सजा दे डाली उससे अपने जूते साफ करवाए, यही नहीं इसके बाद एक बुजुर्ग महिला को दूसरी शादी करने की सलाह देते हुए उसे वहां से भगा दिया।

फरियादी से करवाए बूट पॉलिश 
-मामला मुजफ्फरनगर के चरथावल थाने का है।
-जहां थाना चरथावल क्षेत्र के गांव हैबतपुर निवासी सिट्टू (50) जूते चप्पल ठीक कर अपने परिवार का पालन पोषण करता है।
-बीते शुक्रवार सिट्टू का मोबाइल खो गया था।
-सिट्टू थाने पर मोबाइल खो जाने की शिकायत दर्ज कराने गया।
-वहां चरथावल थाने के मुंशी रौदास सिंह ने विक्टिम सिट्टू की शिकायत दर्ज करने के बदले थाने पर मौजूद साथी पुलिसकर्मियों के बूट पॉलिश करने की सजा दे डाली।

बुजुर्ग महिला को बहू-बेटे ने घर से निकाल दिया
-चरथावल थाना क्षेत्र के गांव कुटेसरा निवासी 75 साल की बुजुर्ग महिला शरीफन को उसके पति की मौत के बाद उसके बेटे और बहू उसे बोझ समझने लगे।
-शरीफन बुढ़ापे की दहलीज पर गांव में भीख मांगकर अपना पेट भरती है।
-आए दिन उसके बच्चे उसे परेशान करते हैं।

पुलिस ने कहा थाने क्यों आई हो जाकर दूसरी शादी करो
-शुक्रवार को जब शरीफन अपने बेटे और बहु की शिकायत करने थाने पहुंची।
-वहां थाने के मुंशी रौदास सिंह ने विक्टिम बुजुर्ग महिला को कहा कि थाने आने से अच्छा है कि दूसरा निकाह कर लो।

विक्टिम बोली- ‘अगर मेरे पास चाकू होता तो तेरे पेट में घुसा देती’
-पुलिस द्वारा इस तरह की बात सुन विक्टिम महिला आग बबूला होकर मुंशी को कहने लगी कि तुझे शर्म नहीं आती मेरे पास चाकू होता तो तेरे पेट में घुसा देती।
-लेकिन इस पूरी घटना के बाद पुलिसकर्मियों ने महिला को थाने से भगा दिया।

एसएसपी ने कहा
-एसएसपी दीपक कुमार ने मामला संज्ञान में लेते हुए दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है।

No comments:

Post a Comment