Friday, 25 August 2017

जानें कौन हैं वह जज, जिन्होंने राम रहीम को करार दिया रेप का दोषी

यौन शोषण के मामले में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सीबीआई कोर्ट ने दोषी करार दिया है. इस फैसले पर देश भर की नजर लगी हुई है. राम रहीम के इस हाई प्रोफाइल मामले में फैसला सुनाने वाले हरियाणा के जींद के रहने वाले न्यायिक सेवा अधिकारी (जज) जगदीप सिंह हैं.  वह काफी सख्त मिजाज के जज माने जाते हैं. इसीलिए उन्होंने किसी दबाव में आए बिना उन्होंने सजा सुनाई और उन्हें यौन शोषण मामले में दोषी माना.

जज से पहले क्रिमनल लॉयर थे

डेरा प्रमुख राम रहीम की जिंदगी का फैसला सुनाने वाले जज जगदीप सिंह एडीजी स्तर के न्यायिक अधिकारी है. जगदीप सिंह  2012 में न्यायिक सेवा में आए थे. इससे पहले वह पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में क्रिमनल मामलों के वकील के रूप से सक्रिय थे. उन्होंने 2000 से लेकर 2012 तक अपराधिक मामलों के मुकदमे लड़ रहे थे.

2002 में मामला सामने आया

गौरतलब है कि 2002 में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के दौरान एक गुमनाम पत्र लिखकर डेरा प्रमुख राम रहीम पर एक साध्वी ने यौन शोषण का आरोप लगाया था. ये पत्र प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और हाईकोर्ट को भेजा गया था. हाईकोर्ट ने इसे संज्ञान में लेकर कार्यवाही शुरू की और उसके बाद सीबीआई जांच शुरू हुई जिसकी परिणति आज फैसले के रूप में हो रही है.