Friday, 6 July 2018

बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिन्दू असुरक्षित !



बांग्लादेश में धर्मांधोंद्वारा हिन्दू सरकारी कर्मचारी चंदनकुमार घोष की हत्या 


ढाका : बांग्लादेश में जेसूर जिले के कोटवाली पुलिस थाना अधिकारक्षेत्र के बसेपरा में महंमद हसिबूर रेहमान एवं उसके अन्य ३ धर्मांध साथियों ने मिलकर हिन्दू सरकारी कर्मचारी चंदनकुमार घोष की हत्या की । बांग्लादेश का हिन्दू संगठन बांग्लादेश माईनॉरिटी वॉचद्वारा इस हत्या प्रकरण के अपराधियों के विरोध में कठोर कार्रवाई की मांग की गई है ।

१. चंदनकुमार घोष लेखापरीक्षक (ऑडिटर)के रूप में ढाका में सरकारी सेवा में कार्यरत थे । वे २० जून को साईकल रिक्शा में ढाका से बसेपरा गांव, अपने घर जा रहे थे । तब महंमद हसिबूर रेहमान एवं उसके ३ मुसलमान साथियों ने मिलकर सडक पर ही छुरा भोंपकर उनकी हत्या की और उनकी बटुआ एवं भ्रमणभाष लुट लिया ।

२. इस हत्या प्रकरण में महंमद हसिबूर रेहमान को बंदी बनाया गया है । उसे जेसूर न्यायदंडाधिकारी के सामने उपस्थित करनेपर उसने हत्या के अपराध की स्वीकृति दे दी है । पुलिसकर्मियों ने इस हत्या प्रकरण में उसके ३ अन्य सहयोगियों के सहभाग की भी पुष्टि की है ।

३. इस हत्या की जानकारी मिलते ही बांग्लादेश माईनॉरिटी वॉच के अध्यक्ष अधिवक्ता श्री. रवींद्र घोष ने कोटवाली पुलिस थाने में भेंट दे कर वहां के अधिकारियों के साथ चर्चा की एवं इस प्रकरण का अन्वेषण कर सभी अपराधियों को तुरंत बंदी बनाने की मांग की ।

४. अधिवक्ता श्री.रवींद्र घोष ने मृत चंदनकुमार घोष के परिवार से भेंट की । अधिवक्ता श्री. घोष ने इस दुखी परिवार को सांत्वना धनराशि देने की एवं मृत व्यक्ति की पत्नी और उनके बच्चों को सरकारी नौकरी देने की मांग की है !